पाटलिपुत्रा यूनिवर्सिटी के छात्राओं ने मनमानी फीस वसूली को लेकर की विरोध प्रदर्शन, किया रोड जाम

0
240

पटना सिटी/मिशन कुमार (न्यूज़ सिटी)। अभी-अभी पटना सिटी के आर•पी•एम कॉलेज में छात्राओं ने कॉलेज की ओर से परीक्षा फ़ार्म भरने के नाम पर मनमानी वसूली को लेकर हंगामा की हैं।

वही छात्रा अनुपमा कुमारी का कहना हैं की कॉलेज में हर काम के लिये पाटलिपुत्रा यूनिवर्सिटी और कॉलेज प्रशासन दोनो ही अलग-अलग फीस मनमानी तरीके से वसूल रही है। जिससे हम सभी लोगों के साथ यूनिवर्सिटी और कॉलेज दोनो ही मिलकर हम सभी छात्राओं का आर्थिक शोषण कर रही है। इसी सब कारणो से आज हम सभी छात्राओं में आक्रोश उबल आया हैं, जिसका हम सभी लोग मिलकर नारेबाजी कर विरोध जता रहे हैं।वही मामले को गम्भीरता से लेते हुए आक्रोशित छात्राओं ने सड़क पर उतर कर गुरु गोबिंद सिंह पथ को जाम कर कॉलेज प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। सड़क जाम व हंगामे की सूचना मिलते ही हरकत में आई चौक थाने की पुलिस ने अक्रोशित हुए छात्राओं को बहुत समझाने पर जाम को हटाया और ट्रैफिक व्यवस्था समान्य हुई। इस दौरान अक्रोशित छात्राओं का कहना था की कॉलेज में एडमिशन, रजिस्ट्रेशन और अब परीक्षा फॉर्म भरने के समय पाटलिपुत्रा यूनिवर्सिटी को अलग ऑनलाइन पेमेंट किये और कॉलेज में इन तीनों बार अलग पेमेंट करना पड़ा। जिससे हम लोगो को दोहरा फीस की भरपाई करना पर रहा हैं। जबकि अन्य कॉलेजों में पाटलिपुत्र यूनिवर्सिटी के द्वारा लिए जा रहे हैं ऑनलाइन फीस के आधार पर ही परीक्षा फॉर्म जमा हो रहे हैं अलग से कोई फीस नहीं देना पड़ रहा है, तो वहीं आरपीएम कॉलेज के छात्राओं को ऑनलाइन परीक्षा भी भरने के बावजूद भी अलग से कॉलेज में इसकी भरपाई करना पड़ जा रहा है।जबकी बी•ए ( पार्ट-1) की छात्रा अंकिता कुमारी का कहना हैं की जब बिहार सरकार व मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने पूरे राज्य भर में छात्राओं को निशुल्क शिक्षा की व्यवस्था की हैं, तो यूनिवर्सिटी और कॉलेज एडमिशन और परीक्षा फॉर्म के नाम पर अवैध वसूली क्यू कर रही हैं। साथ ही कॉलेज में शिक्षकों की भारी कमी है वहीं साइंस टीचर भी मौजूद नहीं है छात्राओं का कहना था कि कॉलेज में प्रैक्टिकल नहीं होता है नहीं फॉर्म भरने के नाम पर अतिरिक्त पैसा वसूला जाता है कॉलेज में रेगुलर क्लास नहीं होने का भी आरोप लगाया है।वही मनमानी वसूली पर आर•पी•एम कॉलेज के प्राचार्य डॉ पूनम कुमारी का कहना है कि वर्ष 2015 से कॉलेज में छात्राओं को निशुल्क दाखिला लिया जा रहा है उनका कहना था कि कॉलेज में परीक्षा आयोजित करने पर मिसलेनियस के नाम पर शुल्क लिया जाता है जिसके उपलक्ष्य में हम लोग कॉलेज के नाम से उतनी ही राशि का रसीद काट कर देते हैं। साथ ही उन्होंने शिक्षकों की कमी के स्वीकारते हुए कहा की इस संबंध में विभाग को पत्र लिखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here