भूकंपरोधी भवन निर्माण के लिए राजमिस्त्रीयों को मिलेगा प्रशिक्षण

0
144
कटिहार/सोनू चौधरी (न्यूज सिटी)। समाहरणालय के सभाकक्ष में जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक में भूकंपरोधी भवन निर्माण की तकनीकी बारीकियों के संबंध में पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से जानकारी देते हुए बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के विशेष कार्य पदाधिकारी श्री शशि भूषण तिवारी ने कहा कि कटिहार जिला एक आपदा प्रवण जिला है, जहां भूकंप, बाढ़, चक्रवात इत्यादि से काफी नुकसान होने की संभावना बनी रहती है।उन्होंने कहा कि तकनीकी जानकारी के अभाव के कारण आम व्यक्ति अपने घरों का निर्माण भूकंपरोधी नहीं करा पाते, जिसके कारण ऐसी आपदाओं के समय मकान के साथ-साथ जान-माल का भी काफी नुकसान होता है। जरूरत इस बात की है कि लोगों को भूकंपरोधी भवन निर्माण हेतु तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराई जाए। बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा प्रत्येक जिलों में राजमिस्त्रीयों एवं अभियंताओं के प्रशिक्षण की तिथियां निर्धारित की गई है। कटिहार जिला में राजमिस्त्रीयों का सात दिवसीय प्रशिक्षण 22 जून से शुरू होगा जो 28 जून तक चलेगा। इसके अतिरिक्त जिला के सभी असैनिक अभियंताओं का आपदा रोधी भवन निर्माण पर चार दिवसीय प्रशिक्षण 25 जून से 28 जून तक आयोजित होगा।

उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि राजमिस्त्रियों के लिए प्रत्येक प्रखंड मुख्यालय पर आयोजित होने वाले उक्त सात दिवसीय प्रशिक्षण में 30-30 राजमिस्त्री को प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि समुचित समुचित रूप से प्रशिक्षण लेने वाले राजमिस्त्री यों को प्रमाण पत्र के साथ साथ ₹700 प्रतिदिन की दर से ₹4900 पारिश्रमिक के तौर पर दिए जाएंगे।

अपर समाहर्ता श्री कमलेश कुमार सिंह ने बैठक में उपस्थित सभी अंचल अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि उक्त प्रशिक्षण को सफल बनाने के उद्देश्य से प्रत्येक प्रखंड मैं तीस- तीस अनुभवी राजमिस्त्रीयों का चयन कर लें एवं प्रशिक्षण हेतु बताए गए मार्ग निर्देशिका के मुताबिक उसकी आवश्यक तैयारी ससमय सुनिश्चित कर लें। उन्होंने कहा कि राजमिस्त्रयों का चयन करते समय इस बात का ध्यान रखें कि प्रत्येक पंचायत से कम-से-कम एक-एक राजमिस्त्री अवश्य प्रशिक्षण ले पाएं एवं उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम का अपने स्तर से भी समुचित अनुश्रवण सुनिश्चित करें।

बैठक के दौरान बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के कंसलटेंट श्री वरूण कुमार मिश्र द्वारा भूकंपरोधी भवन के तकनीकी पक्षों के विषय में पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से विस्तार से जानकारी दी गई। उनके द्वारा नींव की खुदाई, सोलिंग, आर.सी.सी. ढलाई, ले-आउट, सेंटर पिलर बनाने, मॉडल भवन के बहु तकनीक के प्रयोग आदि के विषय में विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि 22 जून को शुरू होने वाले प्रखंड स्तरीय प्रशिक्षण में प्रथम दिन पूर्वाहन 8:00 बजे से अनुभवी राजमिस्त्रीयों का रजिस्ट्रेशन होगा। सुबह 9:00 बजे से शाम 5:30 बजे तक प्रशिक्षण दिया जाएगा। सातों दिन अच्छे तरीके से प्रशिक्षण लेने वाले राजमिस्त्री को प्रमाण पत्र के साथ-साथ ₹4900 भी मिलेंगे। प्रत्येक प्रशिक्षण स्थल पर बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से कुशल प्रशिक्षक मौजूद रहेंगे एवं 5-6 प्रशिक्षण स्थलों पर अनुश्रवण हेतु एक पर्यवेक्षक की भी प्रतिनियुक्ति रहेगी।

बैठक के दौरान अपर समाहर्ता श्री कमलेश कुमार सिंह, आपदा प्रबंधन के प्रभारी पदाधिकारी एवं जिला परिवहन पदाधिकारी श्री अर्जुन चंद्र, जिला आपूर्ति पदाधिकारी श्री प्रमोद कुमार, सदर अनुमंडल पदाधिकारी श्री नीरज कुमार, आईटी प्रबंधक श्री पंकज कुमार सहित सभी अंचल अधिकारी एवं अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here