बिहार में महागठबंधन पर ग्रहण, विधानसभा चुनाव से पहले मिल रहे हैं बड़े संकेत

0
155

पटना/प्रमोद मिश्रा (न्यूज सिटी)। बिहार विधानसभा चुनाव से पहले ही महागठबंधन में टूट के संकेत मिल रहे है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं हिंदुस्तान अवाम मोरचा के प्रमुख जीतन राम मांझी के रुख से इस बात को बल मिलता दिख रहा है। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने संकेत दिए है कि हिंदुस्तान अवाम मोरचा बिहार में विधानसभा चुनाव अकेले लड़ सकती है। इसके तहत चुनाव में पार्टी सभी सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े करेगी।पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने शुक्रवार को हिंदुस्तान अवाम मोरचा (हम) की सदस्यता अभियान शुरू करने के क्रम में मीडिया से बातचीत में कहा कि संभव हुआ तो उनकी पार्टी 2020 का विधानसभा चुनाव अकेले लड़ेगी. मांझी का मानना है कि पहले एनडीए इसके बाद बिहार के महागठबंधन ने उन्हें ठगा है। उन्होंने कहा कि कहने को उन्हें लोकसभा के चुनाव में तीन सीटें दी गयी, लेकिन सही मायने में तीन में से सिर्फ एक सीट पर उनका प्रत्याशी था। दो सीटों पर एक में कांग्रेस और एक में राजद के प्रत्याशी को चुनाव लड़ाया गया। इसको लेकर उनकी पार्टी के अंदर सदस्यों में काफी आक्रोश है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here