Page Nav

HIDE

Breaking News:

latest


 

 

 


 

लॉक डाउन में फंसे बच्चों ने लगाई गुहार, नीतीश अंकल हमें घर जाना है, कृप्या मेरी मदद कीजिये

पटना/भोजपुर (न्यूज़ सिटी)। कोरोना वायरस के कहर से पूरे विश्व मे कोहराम मचा हुआ है। जिसे रोकथाम लगाने के लिए केंद्र सरकार ने सम्पूर्ण भारतवर्...


पटना/भोजपुर (न्यूज़ सिटी)। कोरोना वायरस के कहर से पूरे विश्व मे कोहराम मचा हुआ है। जिसे रोकथाम लगाने के लिए केंद्र सरकार ने सम्पूर्ण भारतवर्ष में लॉक डाउन लागू है। जिस वजह से कई लोग दूसरे-दूसरे प्रदेशों में फंसे हुए हैं।






https://youtu.be/etJG_pwbG9E




इसी बीच केंद्र सरकार की ओर से लॉग डॉउन की अवधि दूसरे चरण में बढ़ाकर 3 मई तक विस्तारित कर दिया है। जिससे जहां तहां फंसे लोगों में बेचैनी बढ़ गयी है। इतना ही नही इस लॉक डाउन में बिहार के भोजपुर सहित अलग-अलग जिलों के करीब 200 स्कूली बच्चे और उनके परिजन भी आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा अंतर्गत कृष्णा जिला में फंसे हुए।






https://youtu.be/lykcfXVDQE4




वही अपने अपने घर जाने को लेकर आंध्र प्रदेश में फंसे बच्चों ने एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर जारी किया है। जिसमे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मदद की गुहार लगाई है। बच्चे और उनके परिजन वीडियो के माध्यम से राज्य सरकार से गुहार लगाते हुए कह रहे कि उन्हें किसी तरह से व्यवस्था करा कर आंध्र प्रदेश से उनके गृह राज्य बिहार स्थित अपने घर पहुंचाने में मदद करें। हालांकि लोग डाउन में फंसे यह बच्चे आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा स्थित विश्व शांति स्कूल की है। जारी वीडियो में देखा जा सकता है कि बच्चे किस तरह से डरे सहमे हुए हैं। यह बच्चे अपने मां-बाप से मिलने को कितने बेताब हैं, यह अंदाजा उनके चेहरे पर झलक रही मायूसी से लगाया जा सकता है।





आंध्रप्रदेश में फंसे बच्चे और परिजन




वहीं इस वीडियो में आरा शहर के नवादा थाना के रामनगर निवासी संजीव कुमार की पुत्री दिव्या आंध्र प्रदेश के विश्व शांति स्कूल में नौवीं कक्षा की छात्रा है। दिव्या पिछले 4 सालों से इसी स्कूल में पढ़ रही है। वैसे ही आरा की पकड़ी मोहल्ला निवासी सुनील पाल की पुत्री अमीषा, और अनिल केशरी की पुत्री श्रुति जैसे 40 से ज्यादा बच्चे आंध्र प्रदेश के विश्व शांति स्कूल में छुट्टी के बाद से फंसे हुए हैं।






https://youtu.be/jQbD8o99CU0




स्कूल में फंसे बच्चों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मदद की गुहार लगाते हुए कह रहे हैं कि नीतीश अंकल प्लीज मुझे मेरे घर पहुंचा दो। वहीं परिवार के लोगों का मानना है कि बच्चे बहुत छोटे हैं और सभी बच्चे स्कूल के छुट्टी होने के कारण अपने अपने घर आना चाहते हैं। लेकिन लॉग डॉउन की वजह से घर आने में सक्षम नहीं है। वहीं अभिभावकों ने भी मुख्यमंत्री से हाथ जोड़कर बच्चों को सकुशल घर तक पहुंचाने की विनती कर रहे हैं।






No comments