सघनबंदी में विद्याथिर्यो से संयम व अनुशासन की अपेक्षा है : आचार्य अनिल राय

0
157

महाराष्ट्र (वर्धा) / (न्यूज सिटी)। महात्मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय के जनसंचार विभाग ने अपने विद्यार्थियों के साथ कोरोना समय में भी सक्रिय रहने का संकल्‍प जारी रखा है। विश्‍वविद्यालय में अध्‍ययनरत देश दुनिया के अनेक विद्यार्थी इस समय सघनबंदी में हैं।इस कारण उनके अध्‍ययन अध्‍यापन के कार्य में कठिनाइयां भी हो रही हैं। ऐसे में विश्‍वविद्यालय द्वारा अपने विद्यार्थियों से संपर्क कर अध्‍ययन, परामर्श व अकादमिक उर्जा को बनाने की जिम्‍मेदारी भी निभाई जा रही है।

कोरोना सघनबंदी में अनेक विद्यार्थी शोधार्थी अपने घरों तथा विश्‍वविद्यालय परिसर में सुरक्षित हैं। हालांकि अकादमिक कार्य व योजनाओं के स्तर पर विद्यार्थियों में मनोवैज्ञानिक चुनौतियाँ भी उभरी है। इन्‍हीं चुनौतियों के समाधान हेतु जनसंचार विभाग विद्यार्थियों से जुड़कर अकादमिक कार्यों में गति लाने हेतु प्रयासरत है। गत दिनों विभाग के अध्‍यक्ष प्रो. अनिल कुमार राय ने विद्यार्थियों से वेब माध्यम से जुडकर संवाद स्‍थापित किया और विद्यार्थियों से एकाग्रता व चुनौतीपूर्ण समय का सामना करते हुए ज्ञानात्‍मक व्‍यवहार करने की अपील की। उन्‍होंने कहा कि पत्रकारिता के विद्यार्थियों के लिए यह समय गहरी दृष्टि से अवलोकन कराने का है। विषम परिस्थितियों में भी विद्यार्थी ज्ञान बोध के लिए ऑनलाइन काउंसिलिंग द्वारा स्वविकास कर सकते हैं। कार्यक्रम में विभाग के शिक्षक संदीप वर्मा ने मूल्‍यबोध के साथ सामाजिक सक्रियता बढ़ाने व आत्म प्रबोधन हेतु गांधीवादी दृष्टि से आत्‍मबल निर्मित करने की बात रखी।

विदित हो कि इस प्रकार के ऑनलाइन आयोजन से जुड़कर अनेक अध्‍यापक लगातार मार्गदर्शन व मनोबल बढ़ाने का भी यत्‍न कर रहे हैं। प्रो. अनिल कुमार राय तथा सहायक प्रोफेसर संदीप वर्मा के साथ ऑनलाइन संवाद में एम.ए जनसंचार के द्वितीय एवं चतुर्थ छमाही के अनेक विद्यार्थयों से अपनी समस्‍याओं का समाधान व मार्गदर्शन भी प्राप्‍त किया। नवाचारी संभावनाओं को स्‍थापित करने के प्रयास से ऐसे ऑनलाइन आयोजन का उद्देश्‍य अपने विद्यार्थियों में अका‍दमिक रूचि तथा मानसिक संबल प्रदान करना है। विद्यार्थियों का मानना है व्‍यावसायिक स्‍तर पर उनके ज्ञान सृजन हेतु इस प्रकार के कार्य नई राह तैयार कर सकेंगे और उनमें कठिन समय में भी सकारात्‍मक कार्य क्षमता का बोध हो सकेगा। इस आयोजन में विभिन्‍न राज्‍यों के अनेक छात्र-छात्राएं ऑनलाइन उपस्थिति हो कर प्रेरणा प्रयोग में सम्मिलित हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here