Page Nav

HIDE

Breaking News:

latest



चुनाव पूर्व झंझारपुर को जिला बनाने की माँग को लेकर मुख्यमंत्री से किया आग्रह

पटना (न्यूज सिटी)। वर्षो से झंझारपुर को जिला बनाने की लंबित मांग को लेकर झंझारपुर जिला बनाओ मोर्चा ने मुख्यमंत्री एवं क्षेत्र से जुड़े सांसद...


पटना (न्यूज सिटी)। वर्षो से झंझारपुर को जिला बनाने की लंबित मांग को लेकर झंझारपुर जिला बनाओ मोर्चा ने मुख्यमंत्री एवं क्षेत्र से जुड़े सांसद, मंत्री, विधायक एवं प्रमुख नेताओं के साथ-साथ सम्बंधित अधिकारियों को पत्र लिख चुनाव से पूर्व जिला बनाने की घोषणा करने की मांग की है।






https://youtu.be/uUqrCA8kTY8




मोर्चा के संयोजक प्रबोध चन्द्र दास ने भेजे पत्र में कहा है कि झंझारपुर से भी छोटे अनुमंडल को जिला का दर्जा मिल गया। लेकिन वर्षो से जिला बनाने की मांग पर कोई ध्यान नही दिया जा रहा है। 2010 में भी विधान सभा चुनाव के दौरान जिला बनाने की घोषणा की थी। विधानसभा में भी मामला उठने पर आश्वस्त किया गया था कि झंझारपुर को जिला बनाया जायगा, लेकिन आज तक नही बना। पत्र में श्री दास ने झंझारपुर को जिला बनाने के लिये होने वाले अहर्ता की चर्चा करते हुए कहा कि क्षेत्र की भौगोलिक, सामाजिक और सरकारी स्तर पर सभी शर्तो को झंझारपुर जिला बनने को पूरा करती है।मुख्यमंत्री से पत्र के माध्यम आग्रह किया गया कि वे अपने वचनों को पूरा कर झंझारपुर वासियो को जिला बनाने का तोहफ़ा दे।






https://youtu.be/CI3p4ALHkQY




झंझारपुर जिला क्षेत्र की जनसंख्या वर्तमान के कई जिलों से अधिक है। झंझारपुर में झंझारपुर व फुलपरास दो अनुमंडल है जिसमे कुल आठ प्रखंड है। क्षेत्रफल जहाँ लगभग 17 सौ वर्ग माइल में फैला है वही जनसंख्या करीब 20 लाख से ऊपर है। लेकिन बने हुए जिले लक्खीसराय में 01 अनुमंडल 07 प्रखंड 474 माइल और 10 लाख ही जनसँख्या है। इसी तरह शिवहर में 01 अनुमंडल 05 प्रखंड क्षेत्रफल 444 माइल और साढ़े छह लाख जनसंख्या वही शेखपुरा में 01 अनुमंडल 06 प्रखंड 689 माइल में क्षेतफल और लगभग साढ़े छह लाख की जनसंख्या है। लेकिन इससे आगे रहने के बाद भी झंझारपुर को जिला नही बनाना सोचनीय है। सभी राजनीतिक दल झंझारपुर को जिला के रूप में संग़ठन चलाती है। ऐसी स्थिति में अभी तक जिला का घोषणा न होने से जिलावासी उपेक्षित महसूस कर रहे है। इसलिए मोर्चा ने राज्य सरकार से चुनाव से पूर्व जिला की घोषणा करने की आग्रह किया है।


No comments