Page Nav

HIDE

Breaking News:

latest



नौबतपुर में वकील को सरेराह गोली मारकर की हत्या, जाँच में जुटी पुलिस

नौबतपुर/अवनीश कुमार (न्यूज सिटी)। स्थानीय थाना क्षेत्र सराड़ी गांव के पास अलीपुर गांव निवासी दिनेश्वर सिंह के 50 वर्षीय पुत्र हरेंद्र सिंह को...


नौबतपुर/अवनीश कुमार (न्यूज सिटी)। स्थानीय थाना क्षेत्र सराड़ी गांव के पास अलीपुर गांव निवासी दिनेश्वर सिंह के 50 वर्षीय पुत्र हरेंद्र सिंह को अपराधियो ने मंगलवार की सुबह दस बजे के करीब गोली मार कर हत्या कर दिया। हरेंद्र सिंह पेशे से वकील थे। प्रतिदिन की तरह आज भी वह घर से आज भी बाइक से अपने घर से पटना सिविल कोर्ट जाने के लिए निकले थे, तभी जैसे ही वे सराड़ी गांव के पास पहुचे तो पहले से घात लगाए अपराधियो ने चलती गाड़ी पर ही गोली मार दिया। जिससे वे सड़क किनारे गिर गए। गोली लगने के बाद हरेंद्र सिंह की मौत घटना स्थल पर ही हो गयी। अपराधियो ने उन्हें सीने में एक गोली मारी है। घटना की सूचना मिलते ही फुलवारी डीएसपी संजय भारती और नौबतपुर थानाध्यक्ष सम्राट दीपक घटना स्थल पहुँच कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं। वही दूसरी ओर पुलिस पदाधिकारियों द्वारा घटना स्थल पर मामले के छानबीन करने में जुट गए है। साथ ही नौबतपुर की सीमा को सील कर अपराधियो की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। समाचार लिखे जाने तक परिजनों ने लिखित प्राथमिकी नही दर्ज कराई है। बताया जाता हैं कि हरेंद्र सिंह पटना मध निषेध कोर्ट के जाने माने वकील थे।






https://youtu.be/feRnSWqQmVI




घटना के संबंध में लोगो ने बताया कि पिछले वर्ष संतोष कुमार गाँव के आंगनबाड़ी केंद्र में ताला मार दिया था। जिसके बाद से हरेंद्र सिंह का गांव के ही संतोष कुमार के साथ इसी को लेकर विवाद चल रहा था। जबरन ताला मारने को लेकर आंगनवाड़ी सेविका बिमला देवी ने भी इसका विरोध की थी। जिसके बाद संतोष ने इसे जातिसूचक शब्द का प्रयोग करते हुए गाली-गलौज किया था। जिसके बाद विमला देवी ने संतोष कुमार के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट के तहत 653/19 कांड दर्ज किया गया था। उसके केस का कोर्ट में पैरवी हरेंद्र सिंह कर रहे थे। केस में कुछ ही दिन में सजा होने वाली थी। जिसको लेकर संतोष हरेंद्र सिंह से खफा चल रहा था।


1 comment

  1. मध निषेध के जाने माने दलाल

    ReplyDelete