पूर्णिया में स्मैकर गैंग का आतंक कायम, गैंग के हमले में दो लोग गंभीर रूप से घायल

0
251

पूर्णिया/श्याम नंदन (न्यूज़ सिटी)। जिले में इन दिनों स्मैकर गैंग का आतंक काफी बढ़ गया है। जिससे स्मैक का सेवन करने वाले अब खुलेआम स्मैक पीने लगे है। ये नशे के दौरान कुछ भी करने को तैयार हो जाते है। इसका एक ताजा मामला शहर के के. हाट सहायक थानाक्षेत्र के माधोपारा के अरबिया कॉलेज के पास का है। बता दें कि शाम सात बजे तकरीबन 6 से 7 की संख्या में 16 से 18 साल के युवक माधोपारा के अरबिया कॉलेज से थोड़ी दूर एक खाली जगह पर स्मैक का सेवन कर रहे थे।

रास्ते से जाते हुए कुछ स्थानीय लोगों ने इन युवकों को जाने के लिये कहा युवकों ने लोगों की बातें अनसुनी कर दी। साथ ही सभी स्मैकर स्मैक पीने में लग गए। तबतक आसपास के कुछ और लोग वहां जमा हो गये। लोगों को देख युवकों ने नशे में लोगों के साथ उलझने लगे। लेकिन मामला बिगड़ता देख सभी स्मैक पीने वाले युवकों ने अपनी मोटरसाइकिल लेकर जाने लगे। जाने के क्रम में युवकों ने दो लोगों को ब्लेड से घायल कर फरार हो गए।स्थानीय लोगों ने उन युवकों का पीछा किया लेकिन सभी युवक भागने में कामयाब हो गए।

स्मैक मामले की घटना की सुचना सहायक के.हाट थानाध्यक्ष अमित कुमार को भी दी गई। सूत्रों की मानें तो जिले में स्मैक पीने वालों को स्मैक बेचने वाला संरक्षण दे रहे है। जहां भी ये युवक स्मैक पी रहे होते है। उनके आसपास ये लोग एक गिरोह बनाकर शहर में रहते है। जहां भी इस तरह की कोई घटना होती है। ये गिरोह तुरंत वहां पहुंचकर स्मैक पीने वालों की तरफ से बोलते और झगड़ते है फिर बाद में सभी को लेकर नौ दो ग्यारह हो जाते है।

आपको बतादें कि ये माधोपारा की पहली घटना नही है. कुछ महीने पूर्व में भी पोलटेक्निक चौक के समीप विश्वकर्मा मंदिर के पास स्थानीयों लोगों ने स्मैक पीने वालों का विरोध किया तो स्मैकरो ने गोली चला दी। गोली चलने से आसपास के ईलाके में हड़कंप मच गया।हालांकि गोली लगने से युवक ज्यादा हताहत नहीं हुआ। वही स्मैक के कारण दूसरी बड़ी घटना कुछ महीने पूर्व कन्या उच्च विद्यालय पूर्णिया में घटी। जहां स्मैकरो ने अपने स्मैकर दोस्त अनुज कुमार की निर्मम हत्या कर दी।

बताते चलें कि बिहार में पूर्ण शराब बंदी के बाद जिले में स्मैक का प्रचलन काफी बढ़ गया है। जिसका उपयोग खास कर युवा वर्ग ज्यादा कर रहे हैं। आज भी आपको व्यस्तम शहर के बीच युवा वर्ग स्मैक पीते और बेचते नजर आ जाएंगें। जो किसी खोपचा या सुनसान जगह में धड़ल्ले पीते हैं।

अगर स्मैक पीने और बेचने की बात करें तो जनता चौक/इंदिरा गांधी स्टेडियम/रणभूमि मैदान/बस स्टैंड/भानु चौक/फोर स्टार चौक/मिथिला के पास सर्विसिंग सेंटर के साथ साथ पोलटेक्निक चौक मुख्य रूप से सक्रिय स्थान है। जरूत है जिला प्रशासन पूर्णिया को कि ससमय रहते इन स्मैकरो और स्मैक पर अंकुश लगाये। नही तो आने वाला पीढ़ी इसके गुलाम हो जायेगें। जो रोज दिन एक नए अप्रिय घटना को कारित करेंगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here