Page Nav

HIDE

Breaking News:

latest

 









 

" रासलीला " राजनीति की भेंट चढ़ी : डा. ध्रुव कुमार ।

पटना सिटी (न्यूज़ सिटी) । वर्षों पुरानी परंपरा के टूटने से कला जगत के रंगकर्म सम्राट श्री विश्वनाथ शुक्ल चंचल जी आज बहुत दुःखी हैं ,उन्होनें...


पटना सिटी (न्यूज़ सिटी) । वर्षों पुरानी परंपरा के टूटने से कला जगत के रंगकर्म सम्राट श्री विश्वनाथ शुक्ल चंचल जी आज बहुत दुःखी हैं ,उन्होनें कहा कम से कम स्व स्तर पर सदस्यों द्वारा लघु कार्यक्रम भी किया जा सकता था । ऐसा ना होने से मैं अत्यंत दुःखी हूँ। ईश्वर भक्ति रूपी कार्यक्रम में बाधा आए तो इससे बड़ी शर्म की बात क्या हो सकती है..
रासलीला चढ़ी राजनीति की भेंट । जब धार्मिक आयोजन सामाजिक दूरी के आधार पर करने क़ा फ़ैसला राज्य सरकार द्वारा हो चुका है , तो "कौमुदी महोत्सव " सादे समारोह के रूप में कार्यकर्ताओं द्वारा मनाना चाहिए था । डा. कुमार नें कहा श्री चंचल जी द्बारा इस महोत्सव को सरकार के हाथों में सौंपना ऐतिहासिक भूल थी , क्योकिं आयोजकों नें बाद में चंचल जी को ही विस्मरण कर दिया । संगीत सम्राट डा . राज कु. नाहर जी नें कहा यदि इस आयोजन को करने क़ा अधिकार मेरे या स्वराँजलि परिवार को होता तो " रास लीला " क़ा पर्व विभाजित नहीं होता और भक्ति की ये प्राचीनतम कड़ी नहीं टूटती ।
वर्चुअल रूप से हुए वार्ता में कलाकारों नें भी अत्यंत दुख जताया औऱ कहा श्री चंचल जी हमलोगों को अपनी सहमति प्रदान करें तो इसे क़ायम
रखा जा सकता है। मौक़े पर संगीतकार पप्पू गुप्ता , सुबोध नन्दन सिन्हा , डा. करुणा निधि , राजा पुट्टु सुरेंद्र कुमार , जिम्मी गुप्ता शामिल थे ।


No comments