Page Nav

HIDE

Breaking News:

latest

 









 

नीतीश जी इस बार रोजगार और कारखाने बढ़ाने के वादे को भी पूरा करेंगे : राजीव रंजन

पटना (न्यूज सिटी)। जदयू एमएलसी और राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद में लोजपा प्रमुख चिराग पासवान के बड़बोलेपन को आड़े हाथों लेते हुए ले...


पटना (न्यूज सिटी)। जदयू एमएलसी और राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद में लोजपा प्रमुख चिराग पासवान के बड़बोलेपन को आड़े हाथों लेते हुए लेते हुए कहा की लोजपा की बिहार में राजद की बी पार्टी होने के अलावा और कोई उपलब्धि नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा, "राघोपुर में इनके प्रतिनिधि ने सभी पोल खोल दिये हैं। जब स्व. रामविलास जी जीवित थे तब भी लोजपा बिहार की मुख्य पार्टी नहीं थी और अब तो वे भी नहीं हैं।"





श्री राजीव रंजन पटना में राज्य के जदयू मुख्यालय में एक प्रेस वार्ता सम्बोधित कर रहे थे। वंशवाद की राजनीती पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, "एक तरफ चिराग पासवान दूसरी तरफ तेजस्वी यादव और तीसरे दिल्ली में बैठे युवराज ये लड़ाई लोकतंत्र बनाम वंशवाद की है।





तीसरे चरण में जिन इलाकों में चुनाव होने हैं वहां नीतीश जी के विकास कार्यों और विपक्ष की विफलताओं का उल्लेख करते हुए श्री प्रसाद ने कहा, "अल्पसंख्यंक समुदाय के कल्याण के नाम पर कांग्रेस और राजद दोनों मिलकर घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं। एक बात साफ कर देना चाहता हूं चाहे नीतीश जी महागठबंधन में रहे हों या NDA में इस समुदाय के विकास के साथ उन्होंने कभी समझौता नहीं किया ।"





नीतीश कुमार की साफ़ छवि का उदहारण देते हुए और चिराग पासवान के बयान को बेबुनियाद बताते हुए उन्होंने कहा, "45 वर्षों के अपने संसदीय जीवन में श्री नीतीश कुमार ने जो संवेदनशीलता दिखाई है और जो उनका व्यक्तित्व और उनकी छवि रही है आज तक उनपर कोई आरोप नहीं लगा है । कह सकते हैं काजल की कोठरी में रहकर के भी वे बेदाग रहे लेकिन कुछ लोग उन्हें आज जेल भेजने की धमकी दे रहे हैं 10 तारीख का हवाला दे रहे हैं जिसका ज़मीनी स्तर पर कोई औचित्य नहीं है।"





बिहार में उद्योग बढ़ाने के लिए अपनी पार्टी  प्रतिबद्धतता और रोडमैप के बारे में बताते हुए श्री प्रसाद ने कहा, "जितने भी हमारे उत्पाद हैं चाहे वह लीची हो मखाना हो या कतरनी चावल हो इनके ब्रांडिंग की पूरी योजना बनाई जा चुकी है स्टेट के SIP ने 1000 यूनिट्स का क्लीयरेंस दिया है।  और 68 इंडस्ट्रियल एरिया तो अभी से चालू हैं ही।"





महिला शसक्तीकरण के बारे में बोलते हुए श्री प्रसाद ने कहा, "आज महिलाओं की श्रेष्ठता बिहार में स्थापित हुई है और एक गृहस्वामिनी के तौर पर उनके फैसलों को मर्द भी अंगीकार करते हैं। ये नीतीश जी के फैसलों का नतीजा है। उन्होंने महिलाओं से वादा किया शराबबन्दी करेंगे खजाने के नुक्सान के बारे में सोचे बिना उन्होंने ये करके दिखाया और बिहार की महिलाएं जिस मान सम्मान की लड़ाई वर्षों से लड़ रही थीं उसमें उनको जीत दिलवाया।" 





साथ ही श्री प्रसाद ने बताया किकीअस नीतीश कुमार देश के एक मात्र मुख्यमंत्री है जिन्हे यूएन ने पर्यावरण पर अपनी बात रखने के लिए निमंत्रित किया। "जल जीवन हरियाली योजना को देश और राज्य के साथ साथ समस्त विश्व ने सराहा है," उन्होंने कहा।  





श्री प्रसाद ने कहा कि लोगों को नीतीश जी पर भरोसा है क्योंकि उन्होंने जो कहा है वो किया है। "2005 में उन्होंने कानून के स्थापना की बात की तो वह किया 2012 में हर घर बिजली पहुंचाने की बात की करके दिखाया अब उद्योग और रोजगार का वादा कर रहे हैं वह भी पूरा करके दिखाएंगे," उन्होंने कहा। 





प्रेस वार्ता मौजूद पार्टी के वरिष्ठ नेता अफाक अहमद ने राजद-कांग्रेस पर अल्पसंख्यकों के नाम पर घड़ियाली आंसू बहाने का आरोप लगाते हुए कहा, "मैं उनसे सिर्फ इतना पूछना चाहता हूं की 2004-05 तक अल्पसंख्यंक कल्याण के लिए केवल साढ़े 3 करोड़ का बजट क्यों था? आज वही बजट 450 करोड़ रुपया हो गया है।  राजद और कांग्रेस के लोग अल्पसंख्यंको को लेकर घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं उनको बरगला रहे हैं।" 





अल्पसंख्यंको को लेकर नीतीश सरकार के कार्यों को  गिनाते हुए उन्होंने कहा, "चाहे वह तालीमी मरकज़ का मामला हो चाहे हुनर कार्यक्रम का मामला हो शिक्षकों की नियुक्ति का मामला हो हर तरह से नीतीश जी ने इस समुदाय के विकास के लिए कार्य किया है।  यहां तक की भागलपुर दंगे को भी दबाने का काम पिछली सरकार ने किया था, लेकिन नीतीश जी आते हीं न सिर्फ इसकी जांच करवाई बल्कि सभी दंगा पीड़ितों को उचित लाभ और सहायता भी दिया गया।"  






No comments