Page Nav

HIDE

Breaking News:

latest


 

 


 

 

 


परिवार परामर्श केंद्र ने कई मामला सुलझाया, केंद्र की बात न मानने वालों को न्यायालय जाने दी सलाह

पूर्णिया। जलालगढ़ के पप्पू राम ने पुलिस परिवार परामर्श केंद्र में आवेदन देकर मायके में रह रही उसकी पत्नी की बीदागी दिलाने की फरियाद की। मधे...


पूर्णिया।
जलालगढ़ के पप्पू राम ने पुलिस परिवार परामर्श केंद्र में आवेदन देकर मायके में रह रही उसकी पत्नी की बीदागी दिलाने की फरियाद की। मधेपुरा जिला के उदाकिशनगंज की राधा देवी केंद्र कि नोटिस पर केंद्र में में पहुंची। लगातार 4 सप्ताह से दोनों को मिलाने के लिए केंद्र द्वारा भरपूर कोशिश की गई। किंतु राधा देवी किसी भी शर्त पर अपने पति के घर जाने के लिए तैयार नहीं थी। उसके पिता द्वारा शादी के अवसर पर जो भी सामान दिया गया है उसे वापस करवा देने की जिद पर डर्टी रही। केंद्र ने कहा यह हमारे क्षेत्राधिकार से बाहर की बात है। इसी बीच पप्पू राम इस बात के लिए राजी हो गया कि जब पत्नी राजी खुशी से सामान वापस करने के लिए तैयार है, तो हम अगली तिथि में 29 जनवरी को केंद्र के समक्ष ही सामान वापस कर देंगे।


एक टेंपो पर एक ट्रंक समान भरकर लाया गया। लिस्ट के अनुसार उसका मिलान किया गया फिर लड़की पक्ष को वह समान सुपुर्द कर दिया गया। पप्पू राम ने भी अपनी द्वारा चढ़ाए गए जेवरात की मांग की। ऐसा लगा लड़की पक्ष भी इसके लिए तैयार होकर आए थे। उसने सोने और चांदी के जेवरात वापस कर दिए। दोनों ने केंद्र से अलग कर देने के लिए फरियाद की। 

केंद्र द्वारा कहा गया कि यह केंद्र समझौता कराता है बसा बसाया घर को उजाड़ने का काम नहीं करता। जब सब कुछ हो ही चुका है तो तुम लोग न्यायालय से तलाक ले लो। अपनी अपनी जिंदगी स्वतंत्र रूप से व्यतीत करो। मामले को सुलझाने में केंद्र सदस्य दिलीप कुमार दीपक, स्वाति वैश्य यंत्री, कृष्ण कुमार सिंह, बबीता चौधरी, रविंद्र शाह, जीनत अमान एवं प्रमोद जायसवाल समेत सहायक अवर निरीक्षक नीलम सिंह ने अहम भूमिका निभायी। 

पूर्णिया से श्याम नंदन की रिपोर्ट।।

No comments