Page Nav

HIDE

Breaking News:

latest


 

 

 


 

जीएसटी में संशोधन की मांग पर 26 फरवरी को कैट का भारत बंद, इन संगठनों का मिला समर्थन

पटना। कंफडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) में व्यापक संशोधन की मांग पर 26 फरवरी को देशव्यापी भारत बंद क...


पटना।
कंफडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) में व्यापक संशोधन की मांग पर 26 फरवरी को देशव्यापी भारत बंद का आह्वान किया है। इसमें कैट को देश भर से व्यापक स्तर पर समर्थन मिल रहा है। 


इस संबंध में कैट बिहार प्रदेश के सरंक्षक शशि शेखर रस्तोगी ने बताया कि जीएसटी में केंद्र सरकार द्वारा जो अमेंडमेंट किया है, वह बहुत ही खतरनाक है। इस अमेंडमेंट के तहत द्वारा अधिकारी को विशेष तरह का पावर दिया गया है। अधिकारी इन प्रावधानों के तहत व्यापारियों द्वारा जरा भी गड़बड़ी होने पर या उससे संतुष्टि नहीं होने पर आपका लाइसेंस रद्द कर सकता है। आपका दुकान मकान, गोदाम, कारखाना सभी को सील कर सकता है। आपके कारखाने, आपके ऑडिटर के साथ साथ आपको भी गिरफ्तार कर सकता है। जो कि एक तरह से अमानवीय और कड़ा कानून है। इस क़ानून कि जद में जो आएगा, उसका सारा व्यापार चौपट हो जाएगा। इसको लेकर कैट ने देशव्यापी बंद का आवाहन किया है। हम सभी व्यापारियों को इसे सफल बनाना चाहिए। साथ ही श्री रस्तोगी ने खासकर स्वर्ण व्यवसायियों से अपील करते हुए कहा है कि वे इस बंदी में जरूर सहयोग करें और 26 फरवरी को सुबह से दोपहर के 2:00 बजे तक कम से कम अपना प्रतिष्ठान बंद रखें ताकि सरकार को अपनी मांगों के प्रति ध्यानाकृष्ट करा सके। इसमें संशोधन करने को बाध्य हो ताकि हमारा व्यापार सुरक्षित तरीके से चले। व्यापार में अधिकतर लोग कम पढ़े लिखे सामान्य रहते हैं और इस तरह की लिखा-पढ़ी में त्रुटी होना स्वभाविक है। मगर इसके मद्देनजर नजर अधिकारियों को मनमानी करने की छूट दी गई है, वह आगे चलकर व्यापार के लिए बहुत घातक हो सकती।

No comments