Page Nav

HIDE

Breaking News:

latest

 









 

45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को एक अप्रैल से लगाया जायेगा कोविड का टीका

अररिया। जिले में कोरोना टीकाकरण की चरणबद्ध प्रक्रिया जारी है. इसी कड़ी में आगामी एक अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लगाये...


अररिया।
जिले में कोरोना टीकाकरण की चरणबद्ध प्रक्रिया जारी है. इसी कड़ी में आगामी एक अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लगाये जाने की प्रक्रिया जिले में शुरू होने वाली है. इससे पूर्व सरकारी व निजी चिकित्सा संस्थान में कार्यरत कर्मी, फ्रंट लाइन वर्कस के साथ-साथ 45 साल से 59 साल उम्र के गंभीर रोग से ग्रसित लोगों के साथ-साथ 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाने का कार्य जिले में विभिन्न सत्र स्थलों पर संचालित किया जा रहा था. इस क्रम में 45 साल से अधिक उम्र के विभिन्न रोग से ग्रसित लोगों को रोग संबंधी जरूरी दस्तावेज टीकाकरण सत्र स्थलों पर साक्ष्य के तौर पर प्रस्तुत करना अनिवार्य था. लेकिन अब इसकी कोई जरूरत नहीं होगी. 45 साल से अधिक उम्र का कोई भी व्यक्ति अपने नजदीकी सत्र स्थल पर पहुंच कर कोरोना का टीका ले सकेंगे.

45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को मिलेगा टीका : 

सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता ने बताया टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के उद्देश्य से सरकार ने 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लगाने का निर्णय लिया है. टीका लगाने के लिये उम्र व पहचान संबंधी सत्यापन के लिये टीकाकरण स्थल पर लोगों का अपना आधार कार्ड उपलब्ध कराना अनिवार्य होगा. उन्होंने कहा कि कोरोना का टीका सभी के लिये जरूरी है. संक्रमण के खतरों को कम करने का यही एक सशक्त जरिया है. टीका लगाने के उपरांत लोगों को 30 मिनट तक मेडिकल टीम के सुपरवीजन में रहना जरूरी होगा. ताकि किसी तरह की समस्या होने पर जरूरी इलाज की सुविधा तत्काल उपलब्ध कराया जा सके.

आठ सप्ताह के अंदर ले सकेंगे टीका का दूसरा डोज: 

डीआईओ डॉ मोईज ने कहा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये टीका का दो डोज लेना अनिवार्य है. पूर्व में पहला डोज लेने के 4 सप्ताह यानी 28 दिन बाद लोगों को दूसरा डोज लगाया जाता था. अब दूसरे डोज के लिये लोगों के पास आठ सप्ताह यानि 56 दिन का समय होगा. निर्धारित समय के दौरान कोई भी व्यक्ति टीका का दूसरा डोज अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर लगा सकेंगे.

सत्र स्थल पर होगा पंजीकरण का इंतजाम :

कोरोना का टीका लगाने से पूर्व लोगों का पंजीकरण अनिवार्य है. पंजीकरण की सुविधा तमाम टीकाकरण सत्र स्थलों पर उपलब्ध कराया गया है. ताकि इसके लिये लोगों को किसी तरह की कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़े. पंजीकरण के लिये लोगों को अपना मोबाइल नंबर व आधार कार्ड की केंद्र पर उपलब्ध कराना अनिवार्य होगा.

निर्धारित लक्ष्य के मुताबिक अभियान में तेजी लाने का हो रहा प्रयास: 

डीपीएम रेहान अशरफ के मुताबिक जिला स्वास्थ्य विभाग अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण संपन्न कराने के लिये युद्धस्तर पर प्रयासरत है. इसके लिये नये टार्गेट ग्रुप चिह्नित किये गये हैं. स्कूली शिक्षक व उनके परिवार के सदस्यों के साथ-साथ स्कूल जाने वाले बच्चों के अभिभावकों को अभियान के तहत टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है. इतना नहीं नहीं जीविका दीदी व उनके परिवार के सदस्यों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण का लक्ष्य तय किया गया है. ग्रामीण इलाकों में लोगों को टीकाकरण के लिये प्रेरित करने के उद्देश्य से स्थानीय वार्ड सदस्य व गांव के प्रभावी लोगों की मदद ली जायेगी.

No comments