Page Nav

HIDE

Breaking News:

latest


 

 

 


 

30 से 59 आयु वर्ग के लोगों की पॉजिटिविटी रेट है सबसे अधिक

अररिया। जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य समिति द्वारा जारी पिछले डेढ़ माह के आंकड़ों से पता चलता है कि भले ही इस अवधि में मिलने वाले...


अररिया।
जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य समिति द्वारा जारी पिछले डेढ़ माह के आंकड़ों से पता चलता है कि भले ही इस अवधि में मिलने वाले कोरोना पॉजिटिव केसों में सबसे अधिक संख्या 20 से 29 आयु वर्ग की हो। पर जहां तक संक्रमण की दर का सवाल है| इसमें 30 से 59 वर्ष आयु वर्ग अब भी आगे है। वहीं एक राहत की बात ये भी है कि शून्य से नौ वर्ष और 60 वर्ष से अधिक के लोगों की पॉजिटिविटी रेट तुलनात्मक रूप से कम है। 

20 से 29 आयु वर्ग के लोगों की पॉजिटिविटी रेट 0.84 :

रिपोर्ट के मुताबिक एक मार्च से 15 अप्रैल तक विभिन्न आयु वर्ग के कुल 40 हजार 276 लोगों की कोरोना जांच हुई। जांच के बाद कुल 391 संक्रमितों की पहचान हुई। रिपोर्ट के मुताबिक 20 से 29 आयु वर्ग के 11 हजार 773 लोगों की जांच के बाद 99 पॉजिटिव केस मिले। देखा जाए तो पॉजिटिविटी रेट 0.84 रही। 10 से 19 वर्ष के बीच के 5538 लोगों की जांच के बाद 45 नए केस मिले। पॉजिटिविटी दर 0.81 रही। 60 वर्ष या उस से अधिक उम्र के 7366 लोगों की जांच के बाद 55 संक्रमितों की पुष्टि हुई। यानी पॉजिटिविटी रेट 0.75 रही। जबकि शून्य से नौ साल तक के 2432 व्यक्तियों की जांच के बाद कुल 12 पॉजिटिव केस मिले। देखा जाये तो पॉजिटिविटी रेट 0.49 रही। 

30 से 59 वर्ष आयु वर्ग के लोगों की औसत पॉजिटिविटी रेट लगभग 1.37 :

वहीं दूसरी तरफ 30 से 59 वर्ष आयु वर्ग के लोगों की औसत पॉजिटिविटी रेट लगभग 1.37 रही। रिपोर्ट के मुताबिक 50 से 59 वर्ष आयु वर्ग के 3189 लोगों की जांच के बाद 49 केस सामने आए| इस तरह पॉजिटिविटी रेट सबसे अधिक 1.53 रही। जबकि 40 से 49 साल के बीच के 4058 लोगों की जांच हुई तो 51 संक्रमित मिले। पॉजिटिविटी रेट 1.25 रही। वहीं 30 से 39 वर्ष आयु वर्ग के 5960 व्यक्तियों की जांच के बाद 80 केस मिले। इस तरह पॉजिटिविटी दर 1.34 रही। 

युवाओं को निभानी होगी अपनी जिम्मेदारी :

विभिन्न आयु वर्ग के लोगों को ध्यान में रखते हुए तैयार किये गये विभागीय रिपोर्ट का हवाला देते हुए डीपीएम रेहान अशरफ ने कहा जिस तरह से जिले में कोरोना संक्रमण का मामला तेजी से बढ़ रहा है इसे देखते हुए युवाओं को इसके रोकथाम के उपायों को लेकर ज्यादा गंभीर होने की जरूरत है। उन्होंने कहा रिपोर्ट से यह स्पष्ट है कि युवा वर्ग के लोग तेजी से संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं।

No comments